अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो आपने कभी न कभी Backlink के बारे में जरूर सुना होगा। बहुत से मेरे नए दोस्त ऐसे भी होंगे जो अभी Blogging Start करने की सोच रहे होंगे। उन्हें ये “Backlink Kya Hai” थोड़ा confuse कर रहा होगा। मगर चिंता न करें, OK Sumit में मैं आपकी इस confusion को दूर करूंगा।

Backlinks को लेकर आपके मन में जो भी doubts होंगे वो सब clear हो जायेंगे। बस आपको जरूरत है तो इस लेख को अंत तक पूरा ध्यानपूर्वक पढ़ने की। Backlink क्या होते हैं, Backlink कैसे बनायें और आखिर Backlink जरुरी क्यों होते हैं, आज के इस लेख में आपको ये सारी जानकारी मिलेगी।

Backlink क्या है – Backlink Kya Hai

किसी भी वेबसाइट में link क्या होता है ये तो आपको पता ही होगा। ठीक वैसे ही backlink भी एक link ही होता है मगर ये किसी दुसरे व्यक्ति के website में होता है। लगता है आप थोड़ा confuse हो गए। चलिए आसान भाषा में समझते हैं।

जब कोई blog owner अपने blog पर या website पर आपके blog का link देता है तो आपको मिलता है एक backlink। ये एक SEO का पार्ट होता है। Backlinks SEO में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले factors में से एक है। जितने ज्यादा आपकी साइट के Backlinks उतना ही आपको फायदा।

चलिए अब थोड़ा technically समझते हैं।

यह basically external links होते हैं। अगर किसी दुसरे व्यक्ति की website पर हमारी website का लिंक होगा तो उस लिंक पर क्लिक करके users हमारी वेबसाइट पर आ जायेगा।

Backlinks Ke Fayde – Backlink के फायदे क्या होते हैं

वैसे तो बैकलिंक्स बनाने के कई सारे फायदे हैं मगर मैं कुछ का विवरण निचे कर रहा हूँ।

  • Ranking में सुधार
  • Organic Traffic
  • Domain Authority में सुधार

#1 Ranking में सुधार

अगर आपके ब्लॉग को High Quality Backlinks मिलते हैं तो आपकी साइट ranking increase होगी ही होगी। Google bots जब देखेंगे की इस वेबसाइट का जिक्र बहुत सी अन्य वेबसाइट ने किया हुआ है तो गूगल automatically आपकी वेबसाइट को गूगल के Top 10 pages में दिखाने शुरू कर देगा।

#2 Organic Traffic

अगर आपकी वेबसाइट के कुछ अच्छे बैकलिंक्स बन जाये तो फिर आपको गूगल की तरफ से Organic Traffic मिलने शुरू हो जाता है। बस आपको एक बार मेहनत करनी पड़ेगी। गूगल की तरफ से मिला हुआ आर्गेनिक ट्रैफिक ही आपकी साइट रैंकिंग तो बढ़ाएगा ही साथ ही आपको High Quality ट्रैफिक भी मिलेगा।

#3 Domain Authority में सुधार

किसी भी वेबसाइट का Domain Authority ये दर्शाता है की उस वेबसाइट की popularity कितनी है। अगर आपके ब्लॉग की DA ज्यादा है तो आपका ब्लॉग बहुत प्रसिद्ध है। Domain Authority पर मैं अगले लेख में विस्तार से बताऊंगा। SEO में Backlinks भी आपके वेबसाइट के DA को बढ़ाने में मदद करता है।

ये थे कुछ बैकलिंक्स बनाने के फायदे इनके अलावा भी बहुत सारे ऐसे फायदे हैं जो आपकी वेबसाइट के लिए फायदेमंद सावित होते हैं। मगर यहाँ पर एक बात का ध्यान रखे की बैकलिंक से आपको धीरे धीरे ही फायदा मिलेगा। ऐसा नहीं है की आज आप बैकलिंक्स बनाओ और कल को आपकी वेबसाइट रैंक करने लगेगी।

इसके अलावा भी आपको हमेशा High Domain Authority वाली वेबसाइट से ही बैकलिंक्स लेने हैं,  क्यूंकि ये High Quality Backlinks कहलाये जाते हैं।

बैकलिंक्स कितने प्रकार के होते हैं

अब आपको इतना तो पता चल गया होगा की आखिर (Backlink Kya Hai)। चलिए अब समझते हैं ये होते कितने प्रकार के हैं। बैकलिंक्स के 2 प्रकार होते हैं। एक DoFollow Backlinks तो दुसरे NoFollow Backlinks, इनके बारे में आगे हम पूरी डिटेल के साथ समझेंगे।

DoFollow Backlink Kya Hai

साल २००5 से पहले बहुत से ब्लॉगर अलग अलग वेबसाइट में जाकर कमेंट करके बैकलिंक्स बनाते थे। किसी भी वेबसाइट में बिना मतलव के लिंक्स को बार बार डालने से गूगल ने इन्हे spam link index की category में डाल दिया। यही से शुरू हुआ Do Follow Backlinks का चलन।

Do Follow बैकलिंक्स SEO के लिहाज से काफी अच्छे होते हैं। Do Follow यानि नाम से ही कोई समझ सकता है की जिस पेज पर लिंक है उसे फॉलो किया जा सकता है। ऐसा नहीं है की सिर्फ Do Follow Backlink वाले ब्लॉग को ही फायदा मिलेगा। जिस ब्लॉग ने DoFollow link दे रखा है उसे भी इसका फायदा मिलता है।

NoFollow Backlink Kya Hai

अगर कोई वेबसाइट अपने पेज में आपकी वेबसाइट का लिंक देता है, मगर उसमे NoFollow Tag लगा देता है तो वो लिंक गूगल में इंडेक्स नहीं होगा। जैसे ही Google Search Engine Robot किसी के वेबपेज पर जाता है तो उस वेबपेज में nofollow का टैग उस लिंक को index करने से रोक देता है।

अब आप सोच रहे होंगे की जब इंडेक्स ही नहीं होगा तो नोफ़ॉलो बैकलिंक्स बनाने का कोई फायदा नहीं है। मगर ऐसा नहीं है, Nofollow backlinks भी बहुत काम के होते हैं। इस तरह के बैकलिंक्स भी आपकी website ranking increase करने में उपयोगी सावित होते हैं। मगर ये DoFollow Backlinks के मुकावले इतने अच्छे नहीं होते हैं।

आप बैकलिंक्स के बारे में तो समझ गए होंगे। अब आप बैकलिंक्स बनाने की सोच रहे होंगे। मगर आपको यहाँ जल्दबाज़ी नहीं करनी चाहिए क्यूंकि बैकलिंक्स की भी कुछ qualities होती हैं। जिसके बारे में हम यहाँ निचे चर्चा करने वाले हैं।

Low Quality Backlinks

जब कोई Webmaster अपने ब्लॉग या वेबसाइट का लिंक किसी spamy या फिर porn website में डाल देता है तो वो Low Quality Backlink माना जाता है। ऐसे लिंक्स से आपको फायदा तो कोई नहीं होगा उल्टा आपको नुकसान ही होगा। ऐसे लिंक्स बनाने से आपका ब्लॉग Google Search Result में दिखाई नहीं देता।

High Quality Backlinks

इस लेख में मैंने domain authority का जिक्र किया था। तो जिस वेबसाइट की domain authority अधिक है और वहां से आपको बैकलिंक मिल रहा था तो वो High Quality Backlinks माना जाता है। अगर आपको अपनी वेबसाइट की  ranking boost करवानी है तो हमेसा high authority domain वाली वेबसाइट से ही quality backlinks बनायें। इस तरह की वेबसाइट से अगर आपको nofollow backlink भी मिलता है तब भी आपको बहुत फायदा मिलेगा और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग में काफी सुधार होगा।

अब आपको पता चल चूका होगा की हमें DoFollow के साथ साथ NoFollow और High Quality Backlinks बनाने चाहिए। मगर अब बात आती है की आखिर High Quality Backlinks कैसे बनायें। आगे हम अब इसी की चर्चा करने वाले हैं।

High Quality Backlinks Kaise Banaye – High Quality Backlinks कैसे बनायें

High Quality Backlink बनाने के बहुत सारे तरीके हैं। यहाँ पर मैं उन 4 तरीको के बारे में बता रहा हूँ जिन्हे मैं खुद अपने Blogs के लिए फॉलो करता हूँ।

  1. Write Quality Content
  2. Guest Blogging
  3. Commenting
  4. Social Profiles

1. Write Quality Content

High Quality links बनाने के लिए सबसे पहले आपको quality content लिखना पड़ेगा। क्यूंकि अगर आपका content लोगों को पसंद आता है तो कोई न कोई ब्लॉगर आपको लिंक जरूर देगा। इसलिए बेहतर रहेगा की आप 2000 words का एक लेख लिखें। ध्यान रहे की ये कंटेंट कॉपी पेस्ट न हो।

2. Guest Blogging

बैकलिंक पाने का Guest Blogging सबसे बेहतरीन तरीका है। जब हम किसी दुसरे ब्लॉग के लिए कोई आर्टिकल लिखते हैं तो उसे कहा जाता है Guest Blogging। इसके बदले में आपको एक Quality Backlink मिलता है। Guest Blogging के लिए सबसे पहले आप अपने ब्लॉग niche से related 5 से 10 ब्लॉग की एक लिस्ट बना लीजिये। फिर आप बारी बारी से उसने संपर्क करके गेस्ट ब्लॉग्गिंग के लिए पूछ सकते हैं। कुछ ब्लॉगर paid guest blogging भी करते हैं। बैकलिंक के लिए अगर आपको पैसे खर्च करने पड रहे हैं तो कोई दिक्कत नहीं।

3. Commenting

बैकलिंक लेने के लिए commenting भी सबसे बेहतरीन और आसान तरीका माना जाता है। इसके लिए बस आपको अपनी ही केटेगरी के ब्लॉग में जाकर अच्छे अच्छे कमेंट करने होते हैं। मगर इस बात का ध्यान रखें की आप स्पैमिंग न कर रहे हों। ज्यादातर उन्ही कमेंट को approve किया जाता है जो की अच्छे हो और अगर कमेंट में बहुत से लिंक्स दे रखे हैं तो वो वो वेबसाइट आपके कमेंट को approve ही नहीं करेगी।

4. Social Profiles

इस तरीके से भी बैकलिंक बनाये जाते हैं। आपको कुछ ऐसी websites search करनी हैं जहा पर प्रोफाइल का ऑप्शन हो। प्रोफाइल वाले सेक्शन में आपके बारे में लिखने को कहा जाता है। वहाँ पर एक वेबसाइट का ऑप्शन दिया होता है जहा आप अपनी website का URL डाल सकते हैं। इस तरह की websites बहुत हैं जिनकी चर्चा हम अपने अगले लेख में जरूर करेंगे।

बहुत से लोग Fiverr से भी बैकलिंक्स खरीदते हैं मगर मैं आपको Fiverr से बैकलिंक्स खरीदना कभी भी suggest नहीं करूँगा। भले ही आप बहुत कम पैसे दे कर ढेर सारे बैकलिंक्स खरीद सकते हैं मगर इस पर भरोसा करना थोड़ा मुश्किल होता है। क्या पता आपको बैकलिंक्स कहाँ कहाँ से मिल रहे हो। पैसे खर्च करने के बाद अगर आपको पता चले की मेरी वेबसाइट पे spamy website से backlinks बना दिए गए हैं तो सिवाय अफ़सोस के और कुछ नहीं मिलेगा।

“Backlink Kya Hai” इस टॉपिक पर था मेरा आज का ये लेख। मैं उम्मीद करता हूँ की आपको Backlink Kya Hai – High Quality Backlinks Kaise Banaye लेख काफी पसंद आया होगा। अगर आपको अभी भी बैकलिंक क्या है इस टॉपिक पर कोई doubt है तो आप कमेंट करके अपना सवाल जरूर पूछें। मेरी कोशिश रहेगी की मैं जल्द से जल्द आपके सवाल का जवाब दूँ और आपका doubt clear करूं।